You Are Unstoppable- A Sparking Story

एक बार दो बच्चे थे जो एक गाँव में रहते थे . दोनों की आपस में बहुत गहरी दोस्ती थी ठीक जय और वीरू के जैसी . उनमे से एक 6 साल का था और दूसरा 10 साल का . दोनों हमेशा साथ साथ रहते , साथ साथ खेलते , साथ साथ खाते – पीते . मतलब की कभी भी एक दुसरे से अलग नहीं रहते थे .

एक दिन खेलते खेलते वो दोनों गाँव से बहुत दूर निकल गये . और जंगल में चले गये . वंहा खेल खेल में उनमें से जो बड़ा लड़का था ,10 साल वाला वो अचानक कुँए में गिर गया . अंदर गिरते ही वो लड़का जोर जोर से चीखने चिलाने लगा क्यूंकि कुँए के अंदर काफी पानी और अँधेरा था और उसे तैरना नहीं आता था .

अब जो दूसरा बच्चा था 8 साल वाला उसने अपने आसपास देखा मदद के लिए पर दूर दूर तक उसे कोई नजर नहीं आया जिसको की वो बुला सके help के लिए . तभी उसकी नजर पड़ी एक बाल्टी पर जिसमें रस्सी बंधी हुई थी . उसने एक सेकंड भी waste नहीं किया और उस बाल्टी को उठाकर के कुँए में फेंक दिया और अपने दोस्त को आवाज लगाई की पकड़ ले इसे . उसके दोस्त ने ठीक वैसे ही किया और बाल्टी को पकड़ लिया .

और वो अपनी पूरी ताकत लगाकर पागलों की तरह उस बाल्टी को ऊपर खींचने लगा . अपनी पूरी जान लगा दी उस 6 साल के छोटे से बच्चे ने और 10 साल के बच्चे ने उस बाल्टी को पकड़ा हुआ था . बाल्टी को खींचता रहा – खींचता रहा और तब तक नहीं रुका जब तक की उसने अपने दोस्त को बचा नहीं लिया जब तक की वो बाहर नहीं आ गया कुँए से  .

कुँए से निकलने के बाद दोनों दोस्त बहुत खुश हो गये , साथ में हंस रहे थे , एक दुसरे को गले लगा रहे थे, रो रहे थे . पर साथ में उन्हें डर भी लग रहा था और डर इस बात का अब बहुत पिटाई होगी जब वो गाँव जायेंगे और उन्हें बतायेंगे की ऐसे हम कुँए में गिर गये थे और ये सब चीजें हुई .

पर हैरानी की बात तो ये थी की जैसा उन दोनों बच्चों ने सोचा था वैसा कुछ भी नहीं हुआ गाँव में आने के बाद . जब वो गाँव गये और गाँव वालो को वो सारा घटनाक्रम बताया , अपने घरवालों को बताया तो किसी ने भी विश्वास नहीं किया गांव वालों ने और वो सब अपनी जगह ठीक भी थे क्यूंकि उस 6 साल वाले बच्चे में इतनी ताकत भी नहीं की थी की वो एक पानी से भरी हुई बाल्टी भी उठा सके तो इतने बड़े बच्चे को इतना ऊपर खींचना तो बहुत दूर की बात थी और सब उन बच्चों पर हंसने लगे . पर एक आदमी था उस गाँव में जिसने उन बच्चों की बात पर विश्वास कर लिया . उस आदमी को सब रहीम चाचा कहते थे गाँव में . उस गाँव के सबसे समझदार बुजर्गों में से एक थे वो . इसलिए सबको लगा की यार ये कभी झूठ नहीं बोलते . अगर ये कह रहे हैं तो जरुर कोई बात होगी , कोई ना कोई वजह होगी जिस वजह से ये ऐसा कह रहे हैं . और फिर सारे गाँव वाले इकटठे होकर के उनके पास गये और जाकर के बोले की, “ जी , देखो हमें तो कुछ समझ आ नहीं रहा , आप ही बता दीजिये की ऐसा कैसा हो सकता है ? ”

गाँव वालो की बात सुनकर के रहीम चाचा को हंसी आ गयी और उनसे बोले , “ भाई , इसमें मैं क्या बताऊ , वो बच्चा बता तो रहा है उसने ये कैसे किया . उसने बाल्टी को उठाकर के कुँए में फेंका, उसके दोस्त ने बाल्टी को पकड़ा, उसने रस्सी को खिंचा और अपने दोस्त को बचा लिया . तो आपको पता तो है की उसने ये कैसे किया . बच्चा बता तो रहा है . इसमें मैं क्या बताऊ. ”

ये सब बोलने पर सारे गाँव वाले उनकी शक्ल देखने लगे .

फिर कुछ देर बाद रहीम चाचा बोले , “ सवाल ये नहीं है की वो छोटा सा बच्चा ये कैसे कर पाया , सवाल तो ये है की वो ये क्यों कर पाया ? ” की उसके अंदर इतनी ताकत कंहा से आयी. और इस बात का सिर्फ और सिर्फ एक जवाब है की “ जिस वक्त उस बच्चे ने ये किया , उस टाइम पे , उस जगह पे दूर दूर तक कोई नहीं था उस बच्चे को ये बताने वाला की तू ये नहीं कर सकता .  मतलब की कोई नहीं था ……… यंहा तक की वो खुद भी नहीं .

सीख :- अब में आपसे पूछता हूँ की अगर कुछ ऐसा हो जाए की आपको भी उस बच्चे की तरह किसी की आवाजें सुनाई ना दे जो आपको आगे बढने या कुछ करने से रोकती है , ना अपनी आवाज और ना किसी और की . तो क्या होगा ? ? ?

अगर ऐसा हो गया तो आपकी पूरी की पूरी life ही बदल जाएगी , मजा आ जायेगा . उस बच्चे की तरह आपको भी कोई नहीं रोक पायेगा , You Will Be Unstoppable………….

अक्सर ऐसा होता है की जब भी कोई कुछ नया या अलग करने की सोचता है , सिर्फ सोचता है तो हजार लोग आ जाते है उसको बताने के लिए की तू ये नहीं कर सकता . उन लोगों की बातें सुनकर उनको भी dought हो जाता है और कंही ना कंही लगने लगता है की वो ये नहीं कर पायेंगे . और जिस समय ये dought आया तो उसी समय खेल खत्म . और आप चाहकर के भी कुछ नहीं कर पायेंगे तब तक जब तक की आप उन लोगों की आवाजों की तरफ ध्यान देते रहोगे .

So, अगर आप कुछ करने के सोच रहे हो या कर रहे तो उस बच्चे की तरह बाहर की आवाजें सुनना बंद कर दीजिये और जिस दिन आपने ये बाहर की आवाजें सुनना बंद कर दिया ,आप अपने काम में सफलता प्राप्त कर लोगे .

पढ़िये :- बहाने छोड़िए और ज़िद पकड़िये

Leave a Comment